बुधवार, 21 मई 2008

अब उर्दू भी नागरी लिपि में पढ़े।

“नहीं खेल ऐ ”द़ाग” यारों से कह दो
कि आती है उर्दू ज़बाँ आते आते।“
द़ाग की कुछ रचनाएँ पढ़ने के लिए मुझे उर्दू - हिंदी शब्दकोश का सहारा लेना पड़ा। डॉ.बशीर बद्र की उर्दू रचनाओं का नागरी लिप्यतंरण एवं संपादन भारतीय प्रशासनिक सेवा के वरिष्ठ अधिकारी श्री. बसंत प्रताप सिंह ने कल्चर यकसाँ में किया है जो वाणी प्रकाशन नई दिल्ली ने प्रकाशित किया है। इसीतरह डॉ.बशीर बद्र की रचनाएँ उजाले अपनी यादों के संग्रह में नागरी लिपि में विजय वाते ने संपादित की है। दोनों ने उर्दू को नागरी लिपि में लिप्यतंरित करके हिंदी साहित्य की बड़ी सेवा की है। उर्दू रजनाओं को समझने में मुझे स्व.आचार्य रामचंद्र वर्मा द्वारा संपादित उर्दू हिंदी कोश मददगार साबित हुआ। यह कोश शब्दलोक प्रकाशन,वाराणसी ने प्रकाशित तथा लोकभारती प्रकाशन इलाहाबाद ने वितरित किया है। इसके अलावा महाराष्ट्र के श्रीपाद जोशी जी द्वारा संपादित उर्दू-मराठी-हिंदी शब्दकोश भी अत्यंत उपयोगी साबित हुआ।
यह बात हुई साहित्य की लेकिन भाषा विज्ञान की दृष्टी से उर्दू से नागरी लिप्यतंरण का एक विशेष महत्व है। हिंदी उर्दू के कुछ शब्दसंग्रह को छोड दे तो दोनों की बनावट एवं क्रियापद समान है। भिन्न लिपि के कारण यह दोनों भारतीय भाषा भगिनियाँ एक ही परिवार में अलग अलग पेहराव पहन कर दूरियाँ बनाकर रह रही है। इस दूरी को अब आधूनिक सूचना प्रौद्योगिकी के कारण हटाया जा सकता है। मैंने कुछ दिन पहले गुगल ग्रुप के चिट्ठाकार वेब पर चर्चा की कि क्या उर्दू रचनाओं को नागरी लिपि में लिप्यंतरित करके पढा जा सकता है। तब मुझे उत्साहवर्धक प्रतिक्रियाएँ प्राप्त हुई। संबंधित चर्चा के बिंदू पाठकों की जानकारी के लिए सीधे चिट्ठाकार की सौजन्य से निचे दे रहा हूँ।

मित्रों
क्या उर्दू से अन्य भारतीय भाषाओं के लिए लिप्यतंरण सुविधा उपलब्ध है?
क्योंकि उर्दू का साहित्य लिपि के कारण हम पढ नहीं सकते. रोमन से अन्य
भारतीय भाषाओं में गिरगीट तथा इंडिक ट्रांसलिटरेशन की सुविधा है लेकिन
क्या कोई मुझे उर्दू को नागरी लिपि में बदलने की तरकीब बता सकता है।
-विजय प्रभाकर कांबले
……………………………
भोमियो में हिंदी उर्दू लिप्यांतर मौजूद था। गिरगिट से भी मैं अनुरोध करुंगा कि वे उर्दू हिंदी लिप्यांतर इसमें शामिल करें। - जगदीश भाटिया
……………………………
भोमियो की उस सुविधा से मैने शुऐब के ऊर्दू चिट्ठे को देखा था, बहुत बढ़िया लिप्यांतरण करता था, शायद चिट्ठाजगत ( गिरगिट) भी इस तरफ ध्यान दे।
--
सागर चन्द नाहर
www.nahar.wordpress.com ॥दस्तक॥
www.techchittha.blogspot.com तकनीक
www.mahaphil.blogspot.com गीतों की महफिल
…………………………………..
यदि थोड़ा प्रयत्न किया जाय तो उर्दू-देवनागरी लिप्यन्तरण औजार बनाया जा
सकता है। यह किसी फाण्ट परिवर्तक जैसा ही होगा। बस समस्या है कि हममे से अधिकांश को उर्दू पढ़ना-लिखना नहीं आता है (और इसीलिये यह उपकरण महत्वपूर्ण है) इसलिये लिप्यन्तरण के अल्गोरिद्म को बनाना मुझे कठिन लग रहा है।
यदि अपने में से कोई बन्धु उर्दू के उच्चारण के नियमों पर प्रकाश डालें
और बतायें कि ऊर्दू के कौन से अक्षर/अक्षर-समूह देवनागरी के किस अक्षर/ अक्षर-समूह के तुल्य होते हैं तो इस पर काम आरम्भ किया जा सकता है। मैंने सुना है कि बहुत से उच्चारण स्थिति/प्रसंग के अनुसार बदलते रहते हैं -- अत: कृपया अपवादों के बारे में भी बतायें। कोई जालस्थल इस तरह की जानकारी देता हो तो उसे बतायें।
यदि उर्दू-देवनागरी लिप्यन्तरण का कार्य ९०% भी सफल होता है तो मेरे
हिसाब से पर्याप्त है। आदमी की बुद्धि बहुत तेज काम करती है; बाकी १०%
की समस्या का हल बुद्धि से हो जायेगा। - अनुनाद
……………………………
मान्यवर आप का यह काम बड़ा अहम् होगा वैसे तो मैं भी आप की मदद कर सकता हूँ,
लेकिन मैं आप को एक मित्र का नाम और मेल दे रहा हूँ. अमरीका के कॅलेफोर्निया में उर्दू और हिन्दी पढाते हैं , आप अपनी ज़रूरतों को लिखिए.
- नाम आफताब अहमद mail - aftab...@gmail.com
please visit
http://samaysrijan.blogspot.com/
आप का- - मेराज अहमद
………………………………
भोमियो एक अच्छा औजार था और उसमें बेहतरी हो सकती थी. एक ऐसा ही ऑनलाइन औजार अभी भी काम कर रहा है, परंतु उसकी उपयोगिता अत्यंत सीमित है. बीबीसी उर्दू को हिन्दी में यहाँ देखें -
http://ltrc.iiit.net/~anusaaraka/cgi-bin/urdu-hindi/urdu-hindi.cgi?ur...
वैसे, उर्दू वेबसाइट को बोलकर पढ़ने वाला औजार जरूर काम का हो सकता है. यहाँ से डाउनलोड करें -
http://www.crulp.org/Downloads/langproc/TextToSpeech/UrduWebpageReade...
पर, रमण कौल ने इस पर विस्तृत लेख लिखा है कि हिन्दी से उर्दू तो संभव है (कई औजार हैं,) परंतु उर्दू से हिन्दी लगभग असंभव. यहाँ पढ़ें -
http://kaulonline.com/chittha/2007/07/urdu-devanagari-comparison/
रविशंकर श्रीवास्तव
………………….
सागर जी
सी-डैक पुणे के फारसी अरबी यूनिट ने लिप्यतंरण की सुविधा दी है लेकिन
हिंदी से उर्दू के लिए। क्या इससे आगे उर्दू से हिंदी सुविधा मिल सकती
है .
http://parc.cdac.in
- विजय प्रभाकर कांबले
……………………………..
हो सकता है कि ये नीचे कडियाँ मदद रुप हो. मै हिन्दी और उर्दू दोनों पढ सकती हुँ.
भावना
http://aspspider.info/hindi2urdu/Abt.aspx
http://www.apniurdu.com/
…………………………………
भावना जी द्वारा दिये गये लिंक उपयोगी हैं किन्तु अपनी उर्दू से हिन्दी
लिप्यन्तरण की समस्या का उनके पास भी कोई समाधान नहीं दिखा। यहाँ तक कि हिन्दी से उर्दू के लिप्यन्तरण का प्रतिचित्रण (मैपिंग) तक उन्होने कहीं नहीं दिया है। उर्दू से देवनागरी लिप्यन्तरण के लिये मेरे मन में एक और विचार आया है। यदि उर्दू से देवनागरी में बदलने का प्रतिचित्रण (mapping) का नियम बताना कठिन है तो इसका समाधान एक उर्दू-देवनागरी शब्दकोश की सहायता से किया जा सकता है। विचार यह है कि लिप्यन्तरण का कार्य शब्दों के स्तर पर किया जाय। उर्दू का एक शब्द लिया जाय और उसके संगत शब्दकोश में पहले से संचित देवनागरी वर्तनी ढ़ूढ़ ली जाय।
और जो शब्द इस शब्दकोश में विद्यमान न हों उनका लिपयन्तरण एक पूर्व निर्धारित लिप्यन्तरण के नियम का अनुसरण करते हुए किया जाय। इससे यह होगा कि कुछ शब्दों का लिप्यन्तरण बिल्कुल सही होगा। (और कुछ का अपूर्ण) लिप्यन्तरण में यदि सही शब्दों की मात्रा अधिक होगी तो गलत लिप्यन्तरित कुछ शब्दों के होते हुए भी अर्थ निकालना सम्भव हो सकेगा।
इसके लिये एक हजार से पांच हजार शब्दों का उर्दू-देवनागरी शब्दकोश का प्रबन्ध करना पड़ेगा। - अनुनाद सिंह
…………………………………
The followingg link gives the keyboard layours of Hindi and urdu
Will this help?
http://aspspider.info/hindi2urdu/Transh2u.aspx
Bhavna
……………………………………….
अनुनाद जी
उर्द नागरी शब्दकोश उपलब्ध हो जाएगा। पुणे के श्रीपाद जोशी जी ने उर्दू का नागरी कोष बनाया है, आप चाहे तो मैं भेज सकता हूँ।
विजय प्रभाकर कांबले
…………………………………

very good solution
if a good urdu hindi dictionary exists (must be existing already .. only soft copy is needed)
then only taking the words ..Urdu to hind .. then reversing the list .. Hindi to Urdu ..
and while converting, checking the Urdu words found against the Urdu word in the bare Urdu-Hindi list will give 100% accurate transliteration .. verbatim.. and..
like it has been said before .. human mind is a super computer .. it WILL be able to 'translate' .. understand .. and it will be easy for Hindi writing guys to 'increase' their knowledge of the sister language go for it guys .. in this initiative, i can surely take quite some responsibilities
who wants to be the Team Leader (to get the brickbats from time to time ;-) .. they are just a natural thingy)
..peekay
----------------------------------
विजय प्रभाकर जी,
उर्दू-हिन्दी शब्दकोश जरूर भेजिये।
किन्तु शर्त यह है कि उसमें उर्दू लिपि में शब्द दिये हों, फिर देवनागरी में
उनका उच्चारण दिया हो - तभी यह उपयोगी होगा। हमको हिन्दी अर्थ से मतलब नहीं है ,बल्कि उर्दू में लिखे का उच्चारण क्या होगा -- इससे मतलब है। वैसे मैने इस तरह की एक छोटे से उर्दू-देवनागरी उच्चारण कोश का जुगाड़ कर लिया है। दस-पन्द्रह दिनों में उर्दू-देवनागरी लिपि परिवर्तक का पहला संस्करण आप सबके सामने प्रस्तुत करने की कोशिश करूंगा। - अनुनाद सिंह
………………………….
Agar Urdu ke shabdon ki devnagarin mein dictionary chahiye to yahan par
maujood hai
http://urdu2hindi.wordpress.com
http://urdu2hindi.blogspot.com/
Is sabdhkosh se help mil sakti hai, lekin isme udru lipi nahi hai.
-Jitu
……………………….
One more dictionary is available at the following link
http://l10n.urduweb.org/dictionary/
Bhavna
…………………………………….
उर्दू से हिन्दी लिप्यन्तरण में सबसे बड़ी कठिनाई
साधारणतः लिखित उर्दू में ह्रस्व इकार और उकार की मात्राएँ छोड़ दी जाती हैं । यदि पाठक उस विशिष्ट शब्द से परिचित है तब तो ठीक है, अन्यथा पढ़ते समय स्वयं ही अकार, इकार या उकार मात्रा की कल्पना करनी पड़ती है । उदाहरण के लिए -
"सिलसिला" (سلسلھ) शब्द लें । उर्दू में इसकी वर्तनी (दायें से बायें) इस
प्रकार है -
सिन, लाम, सिन, लाम, (छोटी) हे
मोतीलाल बनारसीदास द्वारा प्रकाशित 'हिन्दी-उर्दू शब्दकोश' (संकलनकर्ता -
मुहम्मद मुस्तफ़ा ख़ाँ 'मद्दाह') में इस शब्द का लिप्यन्तरण "सिल्सिलः" दिया है। उर्दू सीखने के लिए जून 1977 में मैंने यही कोश खरीदा था ।
'सिलसिला' शब्द यदि पूर्व-परिचित नहीं है, तो 27 तरह से इस शब्द का उच्चारण किया जा सकता है ।
(१)पहले अक्षर सिन का लिप्यन्तरण स, सि, सु में से कुछ भी हो सकता है ।
(२)दूसरे अक्षर लाम का लिप्यन्तरण ल, लि, लु में से कुछ भी हो सकता है ।
(३)तीसरे अक्षर सिन का लिप्यन्तरण स, सि, सु में से कुछ भी हो सकता है ।
Permutation से उच्चारण की कुल संख्या 3 x 3 x 3 = 27
अतः उर्दू से हिन्दी में लिप्यन्तरण बनाते समय इस बात का ध्यान रखना आवश्यक है ।
---नारायण प्रसाद
………………………………
उर्दू से देवनागरी में बदलने वाले उपकरण का पहला संस्करण प्रस्तुत है। ये
फायरफाक्स में बिल्कुल ठीक काम कर रहा है किन्तु आई ई में अभी कुछ समस्या है।
Urdu to Devanagari script
converter_04.htm
http://groups.google.com/group/technical-hindi/web/Urdu%20to%20Devana...
जहाँ तक उर्दू का देवनागरी में परिवर्ततन का सवाल है अभी इसके कोश में जो शब्द हैं यदि उसके बाहर का शब्द उसे मिलता है तो उसके जगह पर स्टार रख देता है। संगत उर्दू शब्द में जितने वर्ण हैं उतने स्टार।
अत: इसकी कार्यक्षमता उतना ही अच्छा होगा जितना इसका शब्दकोश।
इसके बाद मै यह करने जा रहा हूँ कि जो शब्द, शब्दकोश में नहीं हैं उन्हे जो कुछ भी टेढ़े-मढ़े और अपूर्ण नियम हैं उनके सहारे उस शब्द को देवनागरी में बदलना। देखते हैं यह कितना सफल होता है।
- अनुनाद सिंह
http://groups.google.com/groups/profile?enc_user=aovIMhAAAADRqA4SBtD7RahSTpzCBpcS

अंतत इस चर्चा का अच्छा फल हमारे ऑनलाईन मित्रों से संपन्न हुआ जो भाषा प्रेमी भी है साथ साथ आई.टी. के क्षेत्र में काम भी कर रहे हैं। भारतीय भाषाओं को जोड़ने का पवित्र कार्य सूचना प्रौद्योगिकी के उपकरणों से सफल हो सकता है।ब्लॉगिंग करते समय मुझे अनेक मित्र सहयोगी संपर्क में आ गए जिनका मैं अत्यंत आभारी हूँ। मैं भाई अनुनाद सिंह जी का विशेष आभारी हूँ जिन्होंने चर्चा शुरु होते ही केवल १५ दिनों में नागरी लिप्यंतरण का कार्य संपन्न किया। इसमें परिवर्तन एवं सुधार की गुंजाईश है लेकिन एक दिशा मिल गई। ज्ञान अनंत है,जीवन सीमित है लेकिन मित्रों का नि:स्वार्थ प्रेम ही अत्यंत उपयोगी एवं मार्गदर्शक है।चिट्ठाकार के निम्नलिखित पते पर आप यह पूरा संवाद पढ सकते है।
http://groups.google.com/group/Chithakar?hl=hi

अब इस उपकरण को और अधिक परिष्कृत करके वैज्ञानिक एवं तकनीकी हिन्दी
चर्चा-समूह नें डाल दिया गया है।

Urdu to Devanagari script converter_09.htm
http://groups.google.com/group/technical-hindi/web/Urdu%20to%20Devanagari%20script%20converter_09.htm


अब यह लगभग समझने लायक आउटपुट दे रहा है। इसका परिणाम देखकर मुझे पूरा
विश्वास हो गया है कि अगले संस्करण में यह ९०% सही परिणाम देगा जो कि
समझने के लिये पर्याप्त होगा।

इस कार्य के लिये मुझे उर्दू शब्दों की सूची चाहिये जो उर्दू के साथ-
साथ देवनागरी लिपि में भी हो। अच्छा परिणाम आने के लिये इसमें कम से कम
पांच हजार शब्द होने चाहिये।

ऊर्दू में अनेक स्वरों एवं मात्राओं के लिये एक ही संकेत के प्रयोग की
समस्या बहुत ही दोषपूर्ण है। अपने में से जो बन्धु उर्दू लिपि की थोड़ी-
बहुत जानकारी रखते हैं वे कृपया बतायें कि मात्राओं की समस्या से कैसे
प्रभावी ढ़ंग से निपटा जाय।
- अनुनाद सिंह
------------------------------------------

विनोबा भावे जी कहते थे मैं चाहता हूँ कि अन्य लिपियों के साथ साथ नागरी लिपि में भी सभी भारतीय भाषाएँ पढी जाए इससे एकता बढेगी। उनका यह सपना अब पुरा होगा यही कामना करते है।
- विजय प्रभाकर कांबले